हमारे भाव (Our expressions)

हमारे भाव  (Our expressions)


हमारा जीवन ईश्वर प्रदत्त एक उपहार है। हमें इसका उपयोग जीवन को सरल और सादगीपूर्ण बनाने में करना होगा। लेकिन भौतिकता के इस दौर में हमें पता भी नहीं लगता और हम खुद ही अपने खिलाफ काम करते रहते है और दूसरों को जिम्मेदार ठहराते है कभी कभी तो भगवान को भी अपनी असफलताओं के लिए दोष देते हैं। आइए हम सब मिलकर उन प्रमुख भावोंं को जानने का प्रयास करते हैं। जो हमें पीछे धकेलने का काम करते हैं।

इसे भी 👉 पढ़ें  :- 

अच्छी आदतों को टालते रहना


अच्छी आदतों को विकसित करने में समय और धैर्य की जरूरत पड़ती है जबकि बुरी आदतों को हम बड़ी ही आसानी से ग्रहण कर लेते है। अच्छी आदतों को हमें खुद ही विकसित करना होगा। आज हम जो कुछ भी है या भविष्य में जो कुछ भी होने वाले है वो सब हमारी आदतों का ही परिणाम होगा। कोई और जिम्मेदार नहीं हैं। आज की हमारी सफलता, भूतकाल में रही हमारी आदतों का ही परिणाम है। और अगर नाकामयाब है तो आज से, अभी से ही अच्छी आदतों को विकसित करना होगा। 

इसे भी 👉 पढ़ें:-

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

प्रार्थना की शक्ति

उत्साह

जिम्मेदारी

स्वस्थ सोच

अवसर


आलस्य एक बुरी आदत


सफलता के मार्ग में सबसे बड़ी बाधा आलस्य है। आज तक कोई भी आलसी आदमी कामयाब नही हो पाया है। आलस्य एक बुरी आदत है हम सब जानते है लेकिन बात जब इस आदत से छुटकारा पाने की आती है तो हम सब फिर से आलस दिखाते है और कहते है कि फिर कभी प्रयास करेंगे। इस तरह तो हम खुद अपने अपने लिए समस्याएं उत्पन्न कर रहे है, खुद अपने सामने बाधाओं की दिवार बना रहे हैं। जब भी मन में आएं कि ये काम कल कर लूंगा या फिर कभी कर लूूंगा तो समझ लेना कि सफलता दूर होती जा रही है। इसलिए आलस्य का त्याग करना ही होगा। क्योंकि सबको एक दिन में 24 घंटे का ही समय मिला है। और हमने अगर उसको भी आलस्य में गवां दिया तो हमारे भविष्य के जिम्मेदार हम खुद होंगे। फिर हम ये नहीं कह सकते कि हमारी तो किस्मत ही ख़राब थी, परिस्थितियां मेरे पक्ष में नहीं थी, ईश्वर ने हमारा साथ नहीं दिया वगैरह वगैरह। आलस्य को त्यागें बगैर हम सफल नहीं हो पाएंगे।

इसे भी 👉 पढ़ें:-

खुद की मदद कैसे करें

अपने आप को अयोग्य घोषित करना

काम से बचने के लिए बहुत बार हम अपने आप को अयोग्य घोषित कर देते है। ये तो बहुत मुश्किल काम है मुझसे नहीं होगा, कोशिश तो बहुत करता हूं लेकिन मुझसे हो नहीं पाया इत्यादि। बहुत सारे बहाने बनाते है। परंतु क्या हमने कभी विचार किया है कि इस तरह बहाने बना कर हम उस समय तो आराम कर पाएंगे लेकिन हमारी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने और लक्ष्य प्राप्ति से दूर होते जाएंगे। हमें खुद को मोटिवेट करना होगा, अपने आप को महत्व देना होगा। 

इसे भी पढ़ें:-   मूल्यवान कैसे बनें

विपरीत परिस्थितियों में धैर्य खो देना

अनुकूल और प्रतिकूल परिस्थितियां तो जीवन के महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। हम जितना आशावादी और उत्साह से भरपूर अनुकूल परिस्थितियों में रहते है उतना ही उत्साहित और आशावादी विपरीत परिस्थितियों में भी रहने की आवश्यकता है। हमें अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। केवल तभी हम कुछ बेहतर कर पाएंगे। अवसर सभी को मिलते है यह हम पर निर्भर करता है कि हम इसका उपयोग करते हैं या व्यर्थ ही गवां ‌देते हैं।

इसे भी पढ़ें:- आशावादी दृष्टिकोण

डर को प्राथमिकता देना 

हमारे अंदर बैठा हुआ हार जाने का डर हमारे सबसे बड़े शत्रुओं में से एक है। नकारात्मक भावनाएं मन में आना स्वाभाविक है। इन नकारात्मक भावनाओं को सकारात्मक भावनाओं के साथ बदलना होगा। डर को अपने अंदर से निकाल कर बाहर फेंकना होगा। इतना आसान नहीं है लेकिन कोशिश की जा सकती हैं और हम एक अच्छी शुरुआत कर सकते है 

मेहनत की अपेक्षा शार्टकट तरीको को अपनाना

मेहनत तो करनी ही होगी क्योंकि इसका कोई दूसरा विकल्प नहीं है। अगर हम जीवन के शुरुआती दौर में ही मेहनत करके लेते है तो हमें भविष्य की चिंता करनें की कोई आवश्यकता नहीं है लेकिन अगर हमने शुरुआत में मेहनत नहीं की, कठिन परिस्थितियों का सामना नहीं किया, अपने आप को सोने (गोल्ड) की तरह संघर्षों की आग में नहीं तपाया तो अभी से सावधान होने की जरूरत है। अभी से सही दिशा में मेहनत करना शुरू किजिए। बहुत जल्द परिस्थितियां हमारे पक्ष में होंगी। 

इसे भी 👉 पढ़ें:

खुद पर काम करें

परिवर्तन जरूरी है

परिवर्तन संसार का नियम हैं और हमें भी इसका पालन करना होगा। अगर हम अपनी पुरानी आदतों के बल पर पूरा जीवन बिताना चाहते है तो हम ज्यादा कुछ नहीं कर पाएंगे। हमें अपनी क्षमताओं, योग्यताओं में बढ़ोतरी करते रहना होगा। अपने आप को अपडेट रखना होगा। नहीं तो रोज बदलती दुनिया में हम कब पिछड़ जाएंगे हमें पता भी नहीं चलेगा। अपने आप में ऐसा भाव पैदा करना होगा जिससे हम समय के साथ तालमेल बना कर चल सकें।

आपके comments से हमें प्रेरणा मिलती है। अपने दोस्तों और भाइयों को शेयर जरुर करें और ब्लॉग को Follow भी करें। 

धन्यवाद 🙏




via Blogger https://ift.tt/3n6zeWL
April 21, 2021 at 06:12AM

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ